बिज़नेस

Vistara cancels 26 flights On 3 April 2024 Holds meeting with pilots to resolve issues

[ad_1]

Vistara Update: विस्तारा और उसके यात्रियों की मुश्किलें बुधवार 3 अप्रैल 2024 को भी जारी रही. विस्तारा ने 3 अप्रैल को कुल 26 उड़ानें रद्द की है. क्रू और पायलट्स के अभाव के चलते एयरलाइन को अपनी इन उड़ानों को रद्द करना पड़ा है. वहीं बुधवार को इस संकट का निदान करने के लिए विस्तारा के टॉप अधिकारियों ने पायलट्स के साथ बैठक की है. ये माना जा रहा कि इस बैठक में नए कॉंट्रैक्ट और रोस्टरिंग के मुद्दे को लेकर चर्चा की गई है.  

सूत्रों के मुताबिक टाटा समूह की एयरलाइंस विस्तारा के उड़ानें रद्द होने का सिलसिला बुधवार को भी जारी रहा है. और आज एयरलाइंस ने 26 उड़ानें रद्द की है.  रिवाइज्ड पे स्ट्रक्चर के विरोध में विस्तारा के कई पायलट्स बीमारी का हवाला देकर छुट्टी पर चले गए हैं. पिछले दो दिनों में विस्तारा ने 100 से ज्यादा उड़ानें रद्द की है. रेग्यूलेटर डीजीसीए ने रोजाना बेसिस पर विस्तारा को फ्लाइट्स की देरी और रद्द होने की जानकारी साझा करने को कहा है. 

विस्तारा के सीईओ विनोद कानंन ने पायलट्स के साथ वर्चुअल बैठकर उनकी समस्याओं और मांगों पर चर्चा की है. इस बैठक में ह्यूमन रिसोर्स के साथ दूसरे डिपार्टमेंट के अधिकारी भी बैठक में मौजूद थे. इस बैठक को लेकर विस्तारा की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है. सूत्रों के मुताबिक फ्लाइट्स ऑपरेशन की स्थिति अब सामान्य होने लगी है और रद्द किए जाने वाले उड़ानों की संख्या में भी कमी आने लगी है. रोस्टरिंग और लंबे वर्किंग घंटो को लेकर एयरलाइंस के अधिकारियों ने पायलट्स को आशवस्त किया है कि इस मुद्दे का समाधान मई महीने तक निकाल लिया जाएगा.  

विस्तारा का एयर इंडिया में विलय होने जा रहा है जिसके पास 1000 की संख्या में पायलट्स हैं जिसमें से 200 के करीब अलग अलग लेवल पर ट्रेनिंग ले रहे हैं. 31 मार्च से जो समर शेड्यूल शुरू हुआ है उसमें एयरलाइंस को रोजाना 300 फ्लाइट्स को उड़ान भरना था. 

ये भी पढ़ें 

UPI Update: डिजिटल पेमेंट का सिरमौर बना यूपीआई, 2023 की दूसरी छमाही में 100 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचा ट्रांजैक्शन

#Vistara #cancels #flights #April #Holds #meeting #pilots #resolve #issues

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button