बिज़नेस

Share Market Closes After Volatile Session Amid Support From Asian And Global Peers

[ad_1]

लगातार दबाव में चल रहे घरेलू शेयर बाजार (Share Market) को आज गुरुवार को विदेशी बाजारों की मजबूती से कुछ सहारा मिला. बजट (Union Budget 2023) के एक दिन बाद बाजार ने आज भी कारोबार की शुरुआत गिरावट के साथ ही की, लेकिन बाद में विदेशी बाजारों से मिले समर्थन और विदेशकी निवेशकों की लिवाली से इसे कुछ सहारा मिला. वहीं अडानी समूह के शेयरों में आज भी बुरा हाल जारी रहा.

सुबह एसजीएक्स निफ्टी (SGX Nifty) 71 अंक गिरा हुआ था. प्री ओपन सेशन में यही ट्रेंड देखने को मिला और बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) करीब 250 अंक और एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) करीब 50 अंक की गिरावट में रहा. सेशन की शुरुआत होने पर सेंसेक्स नुकसान के साथ 59,459.87 अंक पर खुला. इसी तरह निफ्टी भी गिरकर 17,517.10 अंक पर खुला.  इससे ऐसा लग रहा था कि बाजार आज भी नुकसान में रहने वाला है.

दिन के कारोबार में घरेलू शेयर बाजार में काफी उथल-पुथल रही और यह कई बार लाल तो कई बार हरे निशान में आता रहा. कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 59,999.98 अंक का हाई लेवल और 59,215.62 अंक का लो लेवल छुआ. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 224.16 अंक यानी 0.38 फीसदी की तेजी के साथ 59,932.24 अंक पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी आज भी कल की तरह नुकसान में ही बंद हुआ. निफ्टी 5.90 अंक की गिरावट के साथ 17,610.40 अंक पर रहा.

इससे पहले बजट के दिन यानी बुधवार को भी बजट में भी अच्छी खासी गिरावट देखने को मिली थी. कल बाजार ने कारोबार की शुरुआत तो ठीक की थी, लेकिन दोपहर होते-होते बाजार की सारी तेजी गायब हो गई थी. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 158.18 अंक की मामूली तेजी के साथ 59,708.08 अंक पर और निफ्टी 39.95 अंक के नुकसान के साथ 17,622.20 अंक पर बंद हुआ था. पूरे सेशन में सेंसेक्स ने 12 अंक से ज्यादा का गोता लगाया था.

paisa reels

बाहरी फैक्टर्स की बात करें तो बाजार पर अमेरिका में ब्याज दरें (US Interest Rate Hike) बढ़ाए जाने का दबाव है. अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में फिर से 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी (Fed Rate Hike) की है. इसके साथ ही फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) ने आगे भी ब्याज दरें बढ़ाने का संकेत दिया है. हालांकि विदेशी शेयर बाजारों ने घरेलू बाजारों को सपोर्ट ही दिया.

एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंग सेंग करीब 1 फीसदी की बढ़त में रहा. वहीं चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.11 फीसदी की और जापान के निक्की में 0.10 फीसदी की बढ़त रही. एमएससीआई के एशिया-प्रशांत शेयरों के ब्रॉडेस्ट इंडेक्स को देखें तो यह आज करीब एक फीसदी की तेजी में रहा. इस साल यह सूचकांक अब तक करीब 11 फीसदी की तेजी में है. यह साल 2012 के बाद से इस सूचकांक का जनवरी महीने का सबसे अच्छा प्रदर्शन है. शुरुआती कारोबार में ज्यादातर यूरोपीय बाजार बढ़त में हैं.

सेंसेक्स की कंपनियों में एचडीएफसी में सबसे ज्यादा करीब 2 फीसदी की गिरावट रही. वहीं बजाज फाइनेंस, एनटीपीसी, टाटा स्टील, पावरग्रिड, टाटा स्टील, एचडीएफसी बैंक जैसे बड़े स्टॉक्स में 1.50 तक की गिरावट रही. वहीं सिगरेट पर टैक्स बढ़ाए जाने के बाद भी आईटीसी सबसे ज्यादा करीब 5 फीसदी की तेजी में है. इसके अलावा इंडसइंड बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंफोसिस, विप्रो, एचसीएल टेक और टीसीएस जैसे स्टॉक्स में 1.50 फीसदी से ज्यादा की तेजी रही.

पिछले कुछ दिनों से विवादों में घिरे अडानी समूह के स्टॉक्स के लिए आज भी बुरा हाल जारी रहा. एक दिन पहले अडानी समूह की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज में 28 फीसदी की गिरावट आई थी. एफपीओ वापस किए जाने के बाद आज भी कारोबार के दौरान इसमें 15 फीसदी तक की गिरावट आई.

ये भी पढ़ें-

Railway Budget 2023: अगले तीन सालों में देश में दौड़ेगी 400 वंदे भारत ट्रेन! रेलवे ने बनाया ये बड़ा प्लान

#Share #Market #Closes #Volatile #Session #Support #Asian #Global #Peers

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button