दुनिया

Russia Yasen M Class Submarine Armed With Zircon Hypersonic Missiles Specification


Russia Submarine: रूस ने समुद्र में अपनी खतरनाक पनडुब्बी को उतार दिया है. ये एक परमाणु पनडुब्बी है, जिसमें 10 हजार किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हमला करने वाली हाइपरसोनिक मिसाइलें लगाई जा रही हैं. इन मिसाइलों को जिरकोन मिसाइल के तौर पर जाना जाता है, जिसकी रेंज 900 किलोमीटर तक है. मिसाइलों को न्यूक्लियर वॉरहेड यानी परमाणु बमों से लैस किया जा सकता है. 

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस ने यासेन-एन क्लास की पनडुब्बी को समुद्र में उतारा है. राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इन दिनों पश्चिमी मुल्कों को अपनी ताकत दिखाना चाहते हैं. इसलिए हथियारों का प्रदर्शन हो रहा है. रूस की जिरकोन मिसाइल नए जमाने ही हाइपरसोनिक मिसाइल है, जिसे ‘सुपर वेपन’ के तौर पर जाना जाता है. पुतिन का कहना है कि इस तरह की मिसाइल दुनिया के किसी देश के पास नहीं है. 

क्या है मिसाइल की खासियत? 

जिरकोन मिसाइल एक हाइपरसोनिक मिसाइल है. इसकी रफ्तार ध्वनि की आवाज से नौ गुना ज्यादा है. ये 30 फीट लंबी है. ये मिसाइल कितनी खतरनाक है. इसका अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि अगर इसे लॉन्च किया जाए, तो पांच मिनट में ही ये लंदन तक हमला कर सकती है. यूक्रेन युद्ध की शुरुआत होने के बाद से ही रूस पश्चिमी मुल्कों को डराने के लिए हथियारों के जरिए ताकत दिखा रहा है.

मिसाइल को जो चीज सबसे ज्यादा खतरनाक बनाती है, वो ये है कि अगर इसे लॉन्च किया जाए, तो दुश्मन के लिए इसे पकड़ना नामुमकिन है. जिरकोन हाइपरसोनिक मिसाइल की रफ्तार इतनी तेज है कि यह दुश्मन के एयर डिफेंस सिस्टम को समय पर इसके प्रभाव का पता लगाने से रोक देता है. 10 हजार किलोमीटर से ज्यादा की रफ्तार होने की वजह से हमला होने के बाद टारगेट नेस्तनाबूद हो जाता है. 

क्या है रूस की पनडुब्बी की खासियत?

यासेन-एम क्रूज पनडुब्बी की सबसे बड़ी खासियत इसके छिपने की क्षमता है. ये पनडुब्बी पानी के भीतर जाते ही गायब हो जाती है. फिर दुश्मन के लिए इसका पता लगाना बहुत मुश्किल होता है. पनडुब्बी का वजन 13,800 टन है. इसकी लंबाई 430 फीट है. पनडुब्बी में 64 लोगों का क्रू है, जो इसे ऑपरेट करने का काम करता है. पनडुब्बी में पहले से ही कैलिबर और ओनिकस क्रूज मिसाइलें लगी हुई हैं, लेकिन अब इसमें जिरकोन मिसाइल भी लगाई जा रही है. 

रूस की यूनाइटेड शिपबिल्डिंग कॉर्पोरेशन ने बताया कि खतरनाक जिरकोन मिसाइलों को पनडुब्बियों में लगाने की शुरुआत हो चुकी है. रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु का कहना है कि जिरकोन मिसाइलों से लैस पनडुब्बी समुद्र और जमीन दोनों ही जगह दुश्मन पर सटीक और शक्तिशाली हमला करने के काबिल है. 

यह भी पढ़ें: सऊदी अरब की किस ‘हरकत’ से नाराज हुआ रूस? बयान जारी कर लगा कोसने

#Russia #Yasen #Class #Submarine #Armed #Zircon #Hypersonic #Missiles #Specification

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button