भारत

Indian Meteorological Department Issues Red Alert In Himachal Pradesh And Uttarakhand


Himachal Pradesh And Uttarakhand Rain: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई हिस्सों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है. साथ ही इन इलाकों के लिए ‘रेड अलर्ट’ भी जारी किया है. पिछले कुछ दिनों से यहां लगातार बारिश हो रही है. जानकारी के मुताबिक दोनों ही राज्यों में बारिश के कारण 65 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. 

दोनों राज्यों में हो रहे भूस्खलन, बाढ़, बादल फटने और भारी बारिश ने कई लोगों की जान ले ली है. संपत्तियों को भी काफी नुकसान पहुंचा है. बारिश और भूस्खलन ने यहां के बुनियादी ढांचे को तहस-नहस कर दिया है.  

हिमाचल में नहीं हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम 
इस बीच स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि राज्य में एक साधारण समारोह आयोजित किया गया और हिमाचल में आई आपदा के मद्देनजर कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं किया गया. सुक्खू ने कहा कि सोमवार को राज्य में भूस्खलन और लगातार बारिश के बाद से इससे संबंधित दुर्घटनाओं में लगभग 55 लोगों की मौत हो गई है. 

हिमाचल प्रदेश में 55 लोगों की मौत
उन्होंने कहा, ”राज्य में अब तक करीब 55 लोगों की जान जा चुकी है. मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है. फिलहाल राहत और बचाव का काम किया जा रहा है. हम फंसे हुए लोगों को बचाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. चंडीगढ़-शिमला 4-लेन राजमार्ग सहित अन्य मुख्य सड़कें खोली गईं. हालांकि, अन्य रास्ते चालू करने में समय लगेगा.”

मलबे में लोगों के फंसे होने की आशंका
जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश के शिमला में दो भूस्खलन स्थलों से अब तक 14 शव बरामद किए गए हैं और अधिकारियों को डर है कि मलबे के नीचे और भी लोग फंसे हो सकते हैं. वहीं,  मंडी जिले में भूस्खलन के कारण 24 लोगों की मौत हो गई.

नाइट लाइफ पैराडाइज कैंप में भूस्खलन
वहीं, अगर बात करें उत्तराखंड की तो पौड़ी जिले में नाइट लाइफ पैराडाइज कैंप में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन के बाद एक व्यक्ति की मौत हो गई और चार अन्य के मलबे में फंसे होने की आशंका है. राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (SDRF) के अनुसार कल एक स्थानीय शख्स ने पौड़ी पुलिस को सूचना दी कि मोहनचट्टी के जोगियाना गांव में भारी बारिश के कारण नाइट लाइफ पैराडाइज कैंप भूस्खलन की चपेट में आ गया है.  

आईएमडी ने मंगलवार को कहा कि देहरादून, पौड़ी, टिहरी, नैनीताल, चंपावत और उधम सिंह नगर के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है.

ऋषिकेश में सबसे ज्यादा बारिश
उत्तराखंड के ऋषिकेश में सोमवार को देशभर में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई. राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 3 लोगों की मौत हो गई और 10 लोग लापता हो गए. अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि शुक्रवार को बारिश के कारण कम से कम 13 और लोग मारे गए.

रोकी गई चारधाम यात्रा 
भूस्खलन के कारण बद्रीनाथ, केदारनाथ और गंगोत्री मंदिरों की ओर जाने वाली सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं. ऐसे में इन तीर्थस्थलों की तीर्थयात्रा को दो दिनों के लिए रोकना पड़ा. बारिश के कारण प्रमुख राजमार्ग सोमवार को ब्लॉक रहे. इनमें कालका-शिमला, कीरतपुर-मनाली और पठानकोट-मंडी और धर्मशाला-शिमला मार्ग शामिल हैं.

सीएम पुष्कर ने की अधिकारियों के साथ बैठक 
इतना ही नहीं उत्तराखंड के जोशीमठ में फिर से दरारें देखी गई हैं, जिससे स्थानीय लोगों में डर बढ़ गया है. इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को अपने आवास पर अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की और राज्य में बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे भी किया.

यह भी पढ़ें- पर्यावरण से लेकर पड़ोसी की ‘चिंता’ में छिपा है 12 हाइड्रो प्रोजेक्ट का रहस्य, भारत कर रहा चीन को बेबाक जवाब की हर फ्रंट पर तैयारी

#Indian #Meteorological #Department #Issues #Red #Alert #Himachal #Pradesh #Uttarakhand

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button