बिज़नेस

Happy Women’s Day 2023 Financial Security Tips For Females Policy Bazaar Suggestions


Happy Women’s Day 2023: बदलते जमाने के साथ वित्तीय सुरक्षा का महत्व बढ़ रहा है. यह हर किसी के लिए बेहद अहम चीज है. कोरोना महामारी ने इसकी अहमियत सभी को अच्छे से समझा दी है. यह महिलाओं के उस वर्ग के लिए अधिक जरूरी हो जाता है, जो घरों तक सीमित हैं और जिनके पास अपनी खुद की कोई नियमित कमाई नहीं है. ऐसी महिलाओं को उचित बीमा प्लान वित्तीय सुरक्षा दिलाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं.

महिलाओं के बीच बीमा की पहुंच कम

किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी, मृत्यु और विकलांगता जैसी स्थिति में सुरक्षा के लिए बीमा को एक सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है. हालांकि भारत जैसै देश में इंश्योरेंस की पहुंच अभी भी बहुत कम है. कोरोना महामारी के बाद लोगों के बीच इंश्योरेंस के प्रति जागरूकता तो बढ़ी है, लेकिन ये कहा जा सकता है कि भारत अभी भी इंश्योरेंस को अपनाने की प्रारंभिक अवस्था में ही है. वहीं अगर महिलाओं के बीच इंश्योरेंस अपनाने की बात करें तो और भी निराशाजनक तस्वीर सामने आती है.

इंश्योरेंस की पहुंच कम होने के पीछे कई कारण है, जिसमें इंश्योरेंस के लाभों के बारे में सीमित जागरूकता और वित्तीय सेवाओं में विश्वास की कमी शामिल है. इसके अलावा, भारत में महिलाएं अक्सर अपने परिवार की वित्तीय जरूरतों को अपने ऊपर प्राथमिकता देती हैं, जिससे वह अपने लिए फाइनेन्शियल प्लानिंग पर ध्यान नहीं दे पाती हैं. महिलाओं के बीच इंश्योरेंस की कमी का प्रमुख कारण ऐसे प्रोडक्ट्स की कमी भी है, जो उनकी विशेष आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिजाइन किए गए हैं. अब महिलाओं के लिए कुछ अनुकूलित बीमा उत्पाद भी आने लगे हैं, जो मुख्य तौर पर इस प्रकार हैं…

होम मेकर्स के लिए इंडिपेंडेंट टर्म इंश्योरेंस

किसी भी प्रकार की फाइनेन्शियल प्लानिंग और वित्तीय नियोजन को हमेशा कमाई करने की क्षमता से जोड़ा गया है. गृहणियां जो किसी भी प्रकार की आय अर्जित नहीं कर रही है, लेकिन परिवार को वित्तीय रूप से मजबूत करने में उनका हमेशा से बहुत बड़ा योगदान रहा है. इससे पहले, उन्हें लाइफ कवर खरीदने के लिए अपने साथी की आय और पसंद पर निर्भर रहना पड़ता था. उसमें भी उन्हें बीमा राशि के केवल 50 प्रतिशत के साथ कवर किया जाता था. इंडिपेंडेंट टर्म होममेकर प्लान इंश्योरेंस की दुनिया में एक बदलाव ला रहा है. यह उन गृहिणियों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है, जिनके पास कमाई का अपना कोई साधन नहीं है. इस योजना के तहत, 18 से 50 वर्ष के आयु वर्ग की महिलाएं 5 लाख रुपये की वार्षिक घरेलू आय वाले इंडिपेंडेंट टर्म होममेकर प्लान को खरीद सकती हैं.

paisa reels

मैटरनिटी प्लान

इन दिनों ज्यादातर बीमा कंपनियों के पास मैटरनिटी बेनिफिट सहित महिलाओं की खास जरूरतों को पूरा करने के लिए स्पेशल प्लान्स हैं. हेल्थ इंश्योरेंस के साथ मैटरनिरटी बेनिफिट का विकल्प महिलाओं को इंश्योरेंस की तरफ बढ़ने के लिए महत्वपूर्ण रूप से प्रोत्साहित कर सकते हैं. हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां डिलीवरी के पहले और डिलीवरी के बाद की देखभाल, डिलीवरी और अस्पताल में भर्ती सहित मैटरनिटी पीरियड के दौरान होने वाले सभी खर्चों के लिए व्यापक कवरेज प्रदान करती हैं. मैटरनिटी पीरियड के दौरान होने वाले खर्चों के लिए बीमित राशि 2 लाख रुपये तक हो सकती है, लेकिन मैटरनिटी कवरेज का विकल्प चुनकर वित्तीय बोझ को कम किया जा सकता है और ज्यादा महिलाओं को इंश्योरेंस का विकल्प चुनने के लिए प्रोत्साहित कर सकता है. इसके अतिरिक्त, कुछ हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां फर्टिलिटी ट्रीटमेंट, और नवजात की डेकेयर प्रक्रिया के लिए भी कवरेज प्रदान करती है.

मॉड्यूलर हेल्थ प्लान्स के साथ फ्लेक्सिबिलिटी

मॉड्यूलर हेल्थ प्लान महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं. ये योजनाएं पॉलिसीधारकों को उनकी आवश्यकताओं और बजट के आधार पर प्लान को अपने अनुसार तैयार करने और विशिष्ट लाभों को चुनने की सुविधा देती हैं. इसके अलावा ये प्लान्स महिलाओं की विशिष्ट देखभाल संबंधी सभी जरूरतों को पूरा कर सकती हैं. साथ ही रिप्रोडक्टिव, सेक्सुअल हेल्थ और मैटरनिटी केयर, निवारक स्वास्थ्य सेवाओं संबंधित जरूरतों को भी पूरा कर सकती हैं.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

ऑनलाइन बीमा संबंधी सेवाएं देने वाले प्लेटफॉर्म पॉलिसी बाजार डॉट कॉम के प्रेसिडेंट एवं सीईओ सरबवीर सिंह इस बारे में बताते हैं, महिलाओं के लिए मॉड्यूलर हेल्थ प्लान्स का एक महत्वपूर्ण लाभ प्लान को अपनी जरूरत के अनुसार तैयार करने की क्षमता है. कॉम्प्रिहेंसिव मैटरनिटी कवरेज के अलावा, महिलाएं कुछ योजनाओं में अपनी बीमित राशि को 100% तक बढ़ा सकती हैं या वे उन लाभों का विकल्प चुन सकती हैं, जो अस्पताल में भर्ती हुए बिना डेकेयर प्रक्रियाओं को कवर करने में मदद कर सकते हैं. जिन महिलाओं को रेगुलर चेक-अप की आवश्यकता होती है, वे ओपीडी कवरेज का विकल्प चुन सकती हैं, जबकि फिट और स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखने वाली महिलाओं को छूट और कम प्रीमियम का लाभ दिया जा सकता है.

#Happy #Womens #Day #Financial #Security #Tips #Females #Policy #Bazaar #Suggestions

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button