बिज़नेस

ESIC Scheme Employees State Insurance Corporation Adds 20.2 Lakh Employees In June 2023


ESIC Scheme: जून 2023 में रोजगार के मार्चे पर अच्छी खबर आई है. कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) से जून में कुल 20.2 लाख नए एंप्लाइज जुड़े हैं. वहीं मई की बात करें तो में ESIC से जुड़ने वाले नये कर्मचारियों की संख्या जून के बराबर ही थी. वहीं अप्रैल 2023 में कुल 17.8 लाख लोगों इस स्कीम से जुड़े थे. श्रम और रोजगार मंत्रालय (Labour and Employment Ministry) के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून में कुल 24,298 नई कंपनियों ने इस सोशल स्कीम के तहत खुद को रजिस्टर किया है. वहीं मई 2023 में कुल 24,886 नई कंपनियों ने योजना के तहत पंजीकरण कराया था.

युवाओं को मिली सबसे ज्यादा नौकरी

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक ध्यान देने वाली बात ये है कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत पंजीकृत हुए 20.2 लाख कर्मचारियों में से 48.22 फीसदी 25 वर्ष से कम आयु के युवा हैं. ऐसे में कुल 9.77 लाख युवाओं को संगठित क्षेत्र में जून, 2023 में नौकरी मिली है. वहीं इन आकड़ों से यह भी पता चलता है कि जून 2023 में कुल 3.8 लाख महिलाओं को नौकरी मिली है. वहीं 71 ट्रांसजेंडरों ने भी स्कीम के तहत पंजीकरण कराया है.

ESIC स्कीम क्या है?

गौरतलब है कि संगठित क्षेत्र में 21,000 रुपये से कम की मंथली सैलरी वाले लोग इस स्कीम के तहत खुद का पंजीकरण करवा सकते हैं. इसमें भी कंपनी और कर्मचारी दोनों अपना-अपना योगदान देते हैं. इस स्कीम के तरह 10 या उससे अधिक कर्मचारी वाली कंपनी अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकती है. रजिस्ट्रेशन के बाद सभी लाभार्थियों को एक ESI कार्ड मिलता है. ऐसे में हर महीने जितने लोगों का रजिस्ट्रेशन योजना के तहत होता है इससे यह पता चलता है कि संगठित क्षेत्र में कितने लोगों को नौकरियां मिली है.

योजना के तहत मिलते हैं कई लाभ

इस स्कीम के तहत सरकार कम सैलरी वाले लोगों को बेहतर मेडिकल सुविधाएं प्रदान करती है. इसके लिए सरकार द्वारा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 150 से अधिक हॉस्पिटल और डिस्पेंसरी भी चलाती है. इसमें योजना के लाभार्थी और उनके परिवार का मुफ्त में इलाज होता है. इस स्कीम के तहत किसी बीमारी की स्थिति में कर्मचारी के परिवार को 91 दिनों तक की पेड लीव की भी सुविधा मिलती है. वहीं महिला कर्मचारियों को मैटरनिटी लीव (Maternity Leave)  के बदले 26 हफ्ते की पूरी सैलरी मिलती है. 

ये भी पढ़ें-

Affordable Housing: दिल्ली-NCR भूल जाएं, इस शहर में मिल रहे सबसे किफायती घर, जानें आपकी सिटी का हाल

#ESIC #Scheme #Employees #State #Insurance #Corporation #Adds #Lakh #Employees #June

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button