दुनिया

China Has Sent Spy Balloons To Military Bases Of Many Countries Shocking Claim Of America


America On China’s Spy Balloon: चीन के ‘जासूसी गुब्बारे’ (Spy Balloon) को लेकर रोज नई-नई बातें सामने आ रही हैं. अब अमेरिकी अधिकारियों ने दावा किया है कि चीन का जासूसी बैलून प्रोग्राम (Spy Balloon Program) एक वैश्विक निगरानी प्रयास का हिस्सा है, जिसे तमाम देशों की सैन्य क्षमताओं के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए बनाया गया है. 

कुछ अधिकारियों का मानना ​​है कि चीन जासूसी गुब्बारे से अमेरिकी की सैन्य क्षमता की डिटेल इकट्ठा कर रहा है. अमेरिकी अधिकारियों ने ये भी कहा कि स्पाय बैलून प्रोग्राम चीन में कई स्थानों से संचालित किया जाता है.

पेंटागन के प्रवक्ता, ब्रिगेडियर जनरल पैट्रिक एस. राइडर ने बुधवार (8 फरवरी) को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पिछले कई वर्षों में चीनी गुब्बारों को लैटिन अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, दक्षिण पूर्व एशिया, पूर्वी एशिया और यूरोप में देखा गया है. जनरल राइडर ने कहा, ‘मेरा मानना है कि चीनी निगरानी गुब्बारे किसी बड़े प्रोग्राम का हिस्सा हैं.’

‘दर्जनों देशों के साथ शेयर की चीनी जासूसी गुब्बारे की डिटेल’

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन ने वाशिंगटन में एक अन्य समाचार सम्मेलन में कहा कि विदेश विभाग ने वाशिंगटन में और विदेशों में अमेरिकी दूतावासों के माध्यम से दर्जनों देशों के साथ चीन के स्पाय बैलून प्रोग्राम की डिटेल शेयर की है. उन्होंने कहा, ‘हम ऐसा इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि अमेरिका इस व्यापक कार्यक्रम का एकमात्र लक्ष्य नहीं था. इसने पांच महाद्वीपों के देशों की संप्रभुता का उल्लंघन किया है.’

‘इन गुब्बारों के कई फायदे हैं’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि नियमित पैटर्न में पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले सेटेलाइट के मुकाबले इन निगरानी गुब्बारों के कई फायदे हैं. वे पृथ्वी के करीब उड़ते हैं और हवा के पैटर्न के साथ बहाव करते हैं और रडार से भी बच सकते हैं. सैटेलाइट की तुलना में ये स्पाय बैलून ज्यादा साफ तस्वीरें ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Spy Balloon Row: ‘चीन के साथ कोई टकराव नहीं चाहता अमेरिका’, स्काई बैलून विवाद बढ़ा तो बोले राष्ट्रपति जो बाइडेन

#China #Spy #Balloons #Military #Bases #Countries #Shocking #Claim #America

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button