बिज़नेस

CBI Registered FIR Against Varun Industries For Allegations Of Defrauding Two Banks Of Rs 388 Crore


Varun Industries Bank Fraud Case: CBI ने बुधवार को कहा कि मुंबई की वरुण इंडस्ट्रीज लिमिटेड के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इस फर्म पर दो पब्लिक सेक्टर के बैंकों से धोखाधड़ी करने का आरोप है. ANI के मुताबिक, वरुण इंडस्ट्रीज पर इन बैंकों से 388.17 करोड़ रुपये फ्रॉड करने का आरोप है. 

टीओआई के रिपोर्ट के अनुसार, अप्रैल 2023 के दौरान वरुण इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Varun Industries Ltd) के दो कंपनियों वरुण ज्वेल और ट्रिमैक्स डाटा सेंटर की जांच सीबीआई ने की थी. यह जांच बैंक फ्रॉड के मामले को लेकर की गई थी. इसमें आरोप लगाया गया था कि वरुण ज्वेल ने पीएनबी से लोन लिया था और 46 करोड़ रुपये उसके अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया था. इसके बाद वरुण ज्वेल का अकाउंट एनपीए हो गया. 

पीएनबी को कितना नुकसान 

कंपनी का अकाउंट एनपीए हो जाने के बाद पीएनबी को 63 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. आरोप है कि कंपनी ने पीएनबी से लोन लिया और मॉरीशस की सहायक कंपनियों को 8 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए थे. 

इस बैंक से भी लिया था कर्ज 

वरुण इंडस्ट्रीज के दूसरी कंपनी ट्राइमैक्स आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर एंड सर्विसेज से जुड़ी ट्राइमैक्स डेटासेंटर सर्विसेज ने 2014 में बैंक ऑफ महाराष्ट्र से 29 करोड़ रुपये का लोन लिया था और कई पार्टियों को पैसे ट्रांसफर किए थे. 

ट्राइमैक्स आईटी को 190 करोड़ रुपये का लोन 

कंपनी ने इसके बाद फंड को कई अन्य बैंक अकाउंट से वापस लिया और रूटिंग सेल के जरिए होडिंग कंपनी के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर किया गया. ऐसे में इसका अकाउंट 2018 में एनपीए हो गया. आरोप है कि ट्राइमैक्स आईटी को 190 करोड़ रुपये का लोन मिला और उसने फंड का गलत इस्तेमाल किया और 2017 में इसका अकाउंट एनपीए हो गया. जांच करने के बाद सीबीआई ने वरुण इंडस्ट्रीज के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

ये भी पढ़ें 

Onion at Higher Price: किसानों को होगा बड़ा मुनाफा, उच्च कीमत पर प्याज खरीदेगी सरकार 

#CBI #Registered #FIR #Varun #Industries #Allegations #Defrauding #Banks #Crore

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button