बिज़नेस

Canara Bank launches loan products to meet shortfall in hospitalisation expenses Know Details Here

[ad_1]

Canara Bank News Update: अगर आपके या परिवार में किसी सदस्य के अस्पताल में इलाज के दौरान मेडिक्लेम की लिमिट कम पड़ जाए तो आपको अब फिक्र करने की जरूरत नहीं है. बैंक से लोन लेकर आप अस्पताल के बचे हुए बिल का भुगतान कर सकते हैं. सार्वजनिक क्षेत्र की केनरा बैंक ने बुधवार को एक ऐसा लोन स्कीम लॉन्च किया है जिसमें अस्पताल में इलाज के दौरान पैसे कम पड़ जाने के बाद आप बैंक से लोन ले लेकर बिल का भुगतान कर सकते हैं.  

इस लोन स्कीम को लॉन्च करते हुए केनरा बैंक ने बताया कि हेल्थकेयर फोकस्ड लोन प्रोडक्ट का नाम केनरा हील (Canara Heal) है. इस लोन प्रोडक्ट का मकसद अस्पताल में इलाज के दौरान पैसे कम पड़ जाने की स्थिति में लोन देकर अस्पताल के बिल का भुगतान करना है. बैंक ने अपने स्टेटमेंट में बताया कि ये लोन अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती होने के दौरान सेल्फ या डिपेंडेंट के टीपीए हेल्थकेयर इंश्योरेंस क्लेम के जरिए सेटलमेंट किए जाने के दौरान पैसे कम पड़ जाने पर बैंक लोन देकर बचे हुए रकम का भुगतान करेगी. 

केनरा बैंक ने बताया कि अस्पताल के बचे हुए बिल का भुगतान करने के लिए फ्लोटिंग बेसिस पर 11.55 फीसदी के दर पर लोन मिलेगा. जबकि फिक्स्ड रेट के हिसाब से लोन लेने पर 12.30 फीसदी पर बैंक लोन देगी. ये हेल्थकेयर लोन फैसिलिटी उन कस्टमर्स के लिए है जिनके इलाज का खर्च इंश्योरेंस लिमिट से ज्यादा है. 

केनरा बैंक ने महिलाओं के लिए केनरा एंजेल नाम से सेविंग अकाउंट प्रोडक्ट को लॉन्च किया है जिसमें कैंसर केयर पॉलिसी जो यूनिक फीचर से लैस है. इसमें प्री-अप्रूव्ड पर्सलन लोन की सुविधा है साथ ही टर्न डिपॉजिट पर ऑनलाइन लोन लेने की भी फैसिलिटी उपलब्ध है. महिलाओं के लिए ये सेविंग अकाउंट पूरी तरह फ्री ऑफ कॉस्ट है साथ ही बैंक की मौजूदा महिला ग्राहक अपने अकाउंट्स में इन फीचर्स को जोड़ने के लिए अकाउंट को अपग्रेड करा सकती हैं. 

ये भी पढ़ें 

UPI Update: डिजिटल पेमेंट का सिरमौर बना यूपीआई, 2023 की दूसरी छमाही में 100 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचा ट्रांजैक्शन

#Canara #Bank #launches #loan #products #meet #shortfall #hospitalisation #expenses #Details

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button