मनोरंजन

26 साल पहले आई लॉर्ड बॉबी की बेस्ट थ्रिलर, जिसके आगे फीकी लगेगी ‘दृश्यम’, क्लाइमैक्स तक नहीं लगता विलेन का पता

[ad_1]

मुंबईः जब भी बेस्ट सस्पेंस थ्रिलर की बात होती है अजय देवगन की ‘दृश्यम’ और ‘दृश्यम 2’ का जिक्र ना हो, ऐसा हो ही नहीं सकता. आईएमडीबी रेटिंग में भी अजय देवगन की फिल्म को 8.2 रेटिंग मिली है. अजय देवगन, तब्बू और श्रिया सरन स्टारर फिल्म की कहानी इतनी कसी हुई है कि मूल फिल्म भी इसके आगे फीकी लगती है. लेकिन, 26 साल पहले बॉबी देओल की एक फिल्म रिलीज हुई थी, जिसका सस्पेंस अजय देवगन स्टारर दृश्यम के सस्पेंस को कड़ी टक्कर देता है. इस सस्पेंस थ्रिलर की कहानी इतनी कसी हुई है कि अंत तक विलेन का पता लगाने में दर्शकों के पसीने छूट जाते हैं. खास बात तो ये है कि इस फिल्म के लिए बॉलीवुड की एक लीडिंग एक्ट्रेस ने तब बहुत बड़ा रिस्क लिया था. अपनी इमेज की परवाह किये बिना इस एक्ट्रेस ने फिल्म ने विलेन की भूमिका निभाई थी.

हम बात कर रहे हैं 1997 में रिलीज हुई ‘गुप्त’ की, जिसमें बॉबी देओल के साथ मनीषा कोइराला और काजोल लीड रोल में थीं. इसके अलावा फिल्म में राज बब्बर, दलीप ताहिल, प्रेम चोपड़ा, परेश रावल, ओम पुरी और रजा मुराद जैसे कलाकार भी अहम रोल में थे. फिल्म की कहानी में गवर्नर जयसिंह सिन्हा (राज बब्बर) की मौत के बाद जबरदस्त मोड़ आता है. जो एक ईमादार राजनेता है. फिल्म में बॉबी देओल ने राज बब्बर के सौतेले बेटे की भूमिका निभाई थी.

गुप्त की कहानी
फिल्म में जयसिंह सिन्हा (राज बब्बर) की हत्या हो जाती है और इस हत्या का पूरा शक उसके सौतेले बेटे साहिल सिन्हा (बॉबी देओल) पर आ जाता है. साहिल की मां उसे खून से सने चाकू के साथ अपने पति की डेड बॉडी के पास देखती है, जिसके बाद वह कोर्ट में उसके खिलाफ गवाही देती है और उसे 14 साल की जेल हो जाती है. जेल जाने से पहले साहिल अपनी मां को एक नेकलेस देता है और कहता है कि शायद हत्यारे से ये गलती से गिर गया था. इसके बाद जेल में साहिल को एक कैदी मिलता है, जो साहिल की जेल से भागने में मदद करता है. खास बात तो ये है कि फिल्म के आखिरी तक असली कातिल का पता लगाने में दर्शकों के पसीने छूट जाते हैं, लेकिन जब असली कातिल पर से पर्दा उठता है दर्शक भी हैरान रह जाते हैं.

इस फिल्म में काजोल ने विलेन की भूमिका निभाई थी. अभिनेत्री का किरदार ईशा साहिल से बेहद प्यार करती है. लेकिन, साहिल मेघनाद चौधरी की बेटी शीतल (मनीषा कोइराला) से प्यार करता है. जिसे पाने के लिए ईशा सारी साजिश रचती है. बॉबी देओल, काजोल और मनीषा कोइराला स्टारर ये फिल्म की सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये 1997 की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में से एक थी. इस फिल्म का गाना ‘मुश्किल बड़ा ये प्यार है’ और ‘मेरे सनम’ आज भी खूब पसंद किए जाते हैं.

Tags: Bobby Deol, Bollywood, Entertainment

#सल #पहल #आई #लरड #बब #क #बसट #थरलर #जसक #आग #फक #लगग #दशयम #कलइमकस #तक #नह #लगत #वलन #क #पत

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button