भारत

क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को झटका, रिहा करने की याचिका खारिज


AgustaWestland VVIP Chopper Scam: अगस्‍ता वेस्‍टलैंड वीवीआईपी चॉपर मामले में क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को बुधवार (28 फरवरी, 2024) को बड़ा झटका लगा. दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने क्रिश्चियन मिशेल जेम्स की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें उसने इस आधार पर हिरासत से रिहाई की मांग की थी कि वह हिरासत में अधिकतम अवधि बिता चुका है.

क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को दिसंबर 2018 में यूएई से प्रत्यर्पित किया गया था. तब से वह हिरासत में है. आरोपी को पिछले साल सुप्रीम कोर्ट से भी झटका मिला था, जब शीर्ष अदालत ने 6 फरवरी 2023 को उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाला मामला?

फरवरी 2010 में तत्कालीन यूपीए सरकार ने 3,600 करोड़ रुपये में 12 अगस्ता वेस्टलैंड AW101 हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इन हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और ऐसे अन्य वीवीआईपी को लाने-ले जाने के लिए किया जाना था. घोटाले के आरोप 2012 सामने आए जब यह पाया गया कि कई राजनेताओं और नौकरशाहों ने सौदे को बदलने के लिए कथित तौर पर रिश्वत ली थी.

घोटाला सबसे पहले इटली में उजागर हुआ था. फरवरी 2013 में अगस्ता वेस्टलैंड के सीईओ ब्रूनो स्पैगनोलिनी को इटली के अधिकारियों ने इस आरोप में गिरफ्तार किया था कि कंपनी ने भारतीय वायु सेना के साथ सौदा हासिल करने के लिए बिचौलियों को रिश्वत दी थी. 2014 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने यह डील रद्द कर दी थी. 

यह भी आरोप लगाया गया है कि अगस्ता वेस्टलैंड की मदद के लिए कई मापदंडों में बदलाव किया गया था, जैसे कि हेलीकॉप्टर के केबिन की ऊंचाई, ऑपरेटिंग सीलिंग और अधिकतम ऊंचाई जिस पर हेलीकॉप्टर उड़ान भर सकता है. वीवीआईपी हेलिकॉप्टर मामले की जांच सीबीआई की ओर से की जा रही है.

क्रिश्चियन मिशेल पर क्या है आरोप?

क्रिश्चियम मिशेल और दो अन्य लोग गुइडो हाश्के और कार्लोस गेरोसा बिचौलियों की भूमिका में थे, जिन्हें कथित तौर पर अगस्ता वेस्टलैंड ने अधिकारियों को प्रभावित करके कंपनी के पक्ष में डील करने के लिए काम पर रखा था. सीबीआई ने आरोप लगाया है कि मिशेल की फर्मों को इस उद्देश्य के लिए करीब 42.27 मिलियन यूरो मिले.

रिश्वत को कथित तौर पर मिशेल और वकील गौतम खेतान की कंपनियों के माध्यम से कई अनुबंधों के जरिए से कई स्तर के लेनदेन के माध्यम से छुपाया गया था. मिशेल ने आरोप लगाया था कि सीबीआई टीम चाहती थी कि वह गांधी परिवार का नाम ले, लेकिन एजेंसी ने इस दावे का खंडन किया था.

मामले में प्रमुख आरोपियों में पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी पर भी आरोप लगाए गए. त्यागी को 9 दिसंबर 2016 को गिरफ्तार किया गया था. सीबीआई ने आरोप लगाया है कि त्यागी ने हेलीकॉप्टरों की ऑपरेशनल सीलिंग को 6000 मीटर से घटाकर 4500 मीटर करने की सिफारिश करने में भूमिका निभाई थी, जिससे अगस्तावेस्टलैंड रेस में आ गया था. आरोप लगाया गया कि भारतीय वायुसेना बदलावों के बिल्कुल खिलाफ थी लेकिन जब त्यागी प्रमुख बने तो उन्होंने इनकी सिफारिश की.

यह भी पढ़ें- UN में भारत की दो टूक, कहा- कश्मीर पर तुर्किए न दे ज्ञान, पाकिस्तान को भी फटकारा


#करशचयन #मशल #जमस #क #झटक #रह #करन #क #यचक #खरज

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button