मनोरंजन

क्या शबाना आजमी बनने जा रही हैं ‘मासूम…द नेक्स्ट जेनरेशन’ का हिस्सा? शेखर कपूर ने किया खुलासा


नई दिल्ली. बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक शेखर कपूर ने अपने करियर में कई ऐसी फिल्मों का निर्देशन किया है जिन्होंने दर्शकों के दिलों पर गहरी छाप छोड़ी. लेकिन क्या आप जानते हैं कि करियर की पहली ही फिल्म से उन्होंने निर्देशक बनने का सपना छोड़ने की तैयार कर ली थी. उनके निर्देशन की पहली फिल्म ‘मासूम’ को आज भले ही एक कल्ट क्लासिक के रूप में सम्मानित किया जाता है, लेकिन रिलीज के वक्त इस फिल्म को कोई देखने नहीं आया था. अब शेखर कपूर ‘मासूम…द नेक्स्ट जेनरेशन’ नाम की अगली फिल्म पर काम कर रहे हैं.

अभिषेक कपूर ने फिल्म का नाम ‘मासूम…द नेक्स्ट जेनरेशन’ रखा है. पहली फिल्म की सफलता के सालों बाद शेखर ने इस फिल्म का सीक्वल लाने की योजना बनाई है. पहली फिल्म की कहानी और खासतौर पर फिल्म के गाने तो लोगों के दिल में घर कर गए थे. फिल्म का कहानी भी काफी दिलचस्प थी. अपने निर्देशन की पहली फिल्म को बनाना शेखर के लिए काफी मुश्किल था. फिल्म के लिए शबाना आजमी को राजी करने की कहानी भी काफी दिलचस्प है. हाल ही में शेखर ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए फिल्म के दिलचस्प पहलुओं का खुलासा किया है.

कोरियोग्राफर बनने आए थे, बन गए एक्टर, भंसाली की 211 करोड़ी फिल्म से चमक उठी किस्मत, 2 गुना ज्यादा हुई थी कमाई

शबाना आजमी को कास्ट करना नहीं था आसान
डायरेक्टोरियल डेब्यू वाली इस फिल्म से ही निर्देशक बनने का सपना शेखर कपूर ने देखा था. इस फिल्म से जुड़े कुछ खास हिस्सों का जिक्र करते हुए शेखर कपूर ने सोशल मीडिया पर हालिया पोस्ट के जरिए खुलासा किया और लोगों को हैरान कर दिया है कि लेकिन क्या शबाना आजमी भी इस मोस्ट अवेटेड सीक्वल का हिस्सा बनने जा रही हैं, वह बताते हैं,मुझे यकीन है कि आज मेरी ये कहानी उन कलाकारों को भावुक कर सकती है, जो मैं इस कहानी के जरिए लोगों तक पहुंचाना चाहता हूं. पहली फिल्म के लिए भी शबाना को कास्ट करना आसान नहीं था. जब शबाना आजमी ने मुझसे पूछा कि कम से कम ‘मासूम, द नेक्स्ट जेनरेशन’ की कहानी तो सुनाओ, मैं झिझक गया.. मैं लंदन में था और वह फोन के दूसरी तरफ मुंबई में थी.

shabana azmi

साल 1983 में निर्देशक शेखर कपूर अपने निर्देशन में बनी पहली फिल्म लेकर आए थे.

कहानी सुनते ही राजी हो गई थीं एक्ट्रेस
किसी भी डायरेक्टर के लिए आसान नहीं कि वह फोन पर एक्टर को कहानी सुनाकर राजी कर सके. वो भी जो फिल्म में लीड भूमिका निभाने वाला हो. जब उन्होंने फोन पर मुझसे पूछा तो मैं बहुत देर तक शांत रहा फिर कुछ देर रूकने के बाद उन्होंने शेखर मैं वैसे भी आपके साथ कोई फिल्म करूंगी.. लेकिन क्या आपके पास कोई कहानी है?’ मैंने किसी तरह कहानी के उस इमोशंस को एक्ट्रेस को बताया मैं उस जोन में ही नहीं आ पा रहा था, क्योंकि फोन पर एक्टर को नेरेट करना आसान नहीं होता. लेकिन फिर भी शबाना राजी हो गईं. उन्होंने कहा ये खूबसूरत है, शेखर, आपको यह फिल्म बनानी होगी. मुझे लगता है कि अगर आप पूरी लगन से मेहनत से कहानी बनाते हो एक्टर भी जुड़ने के लिए एक्साइटेड रहते हैं.’

बता दें कि शेखर कपूर खुद भी अपनी इस सीक्वल मासूम…द न्यू जनरेशन को लेकर काफी एक्साइटेड हैं. फिलहाल वो फिल्म की स्क्रिप्ट तैयार करने में बिजी हैं. इस फिल्म के काम को आगे बढ़ाने के लिए वो अब तक कई मीटिंग भी कर चुके हैं. शेखर कपूर के निर्देशन में बनी पहली फिल्म मासूम 21 अक्टूबर 1983 को रिलीज हुई थी. अब इस फिल्म का सीक्वल की तैयारी चल रही है.

Tags: Entertainment news., Naseeruddin Shah, Shabana Azmi

#कय #शबन #आजम #बनन #ज #रह #ह #मसम…द #नकसट #जनरशन #क #हसस #शखर #कपर #न #कय #खलस

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button